मुजफ्फरनगर : जिला चिकित्सालय एवं निजी अस्पताल में लूट खसोट की जड़ है- मुख्य चिकित्सा अधिकारी

Share



नितिन शर्मा

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जिलाअध्यक्ष लोकेश सैनी के नेतृत्व में हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं द्वारा अस्पताल चौराहे पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के पुतले का दहन किया गया.
अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष योगेंद्र वर्मा एवं प्रदेश अध्यक्ष अरुण चौधरी ने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्राइवेट हॉस्पिटल पर कार्रवाई केवल खानापूर्ति है क्योंकि मुख्य चिकित्सा अधिकारी की नाक के तले सैकड़ों फर्जी अस्पताल चल रहे थे आज तक इन पर कार्रवाई नहीं हुई इससे सिद्ध होता है कि जो भी लूट खसौट हॉस्पिटल द्वारा की जा रही है यह सब सीएमओ साहब के इशारों पर हो रही है / क्योंकि राज्य मंत्री, केंद्रीय मंत्री से लेकर योगी आदित्य नाथ के दरबार तक यह सूचना जा चुकी है मगर 1 दर्जन से अधिक महिलाओं की मौतो के जिम्मेदार सीएमएस आभा आत्रे व डॉक्टर मुरली भास्कर पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है ऐसा लगता है कि मुजफ्फरनगर जिला चिकित्सालय के भ्रष्टाचार की जड़ कुछ ज्यादा ही मजबूत है* श्री सैनी ने कहा कि जल्द ही सीएमएस आभा आत्रे एवं डॉ मुरली भास्कर को जल्द निलंबित नहीं किया गया तो जल्दी हिंदू महासभा का एक प्रतिनिधि मंडल केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी से व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जी से दिल्ली जाकर मुलाकात करेगा.
प्रदेश उपाध्यक्ष अमरीश त्यागी व सुरेश कुमार बारी ने संयुक्त बयान में कहा कि जिला चिकित्सालय में किसी भी मरीज को पूरी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध नहीं कराई जाती बल्कि उनके कागजों में मेरठ मेडिकल लिख कर प्राइवेट हॉस्पिटल में रेफर कर दिया जाता है.दौरान मुख्य रूप से उपस्थित रहे :- राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश कश्यप, मंडल अध्यक्ष देवेंद्र चौहान, युवा जिला अध्यक्ष आशीष शर्मा, युवा नगर अध्यक्ष पुष्पेंद्र सैनी, जिला उपाध्यक्ष गौतम कुमार, रविंद्र सैनी, जिला सचिव प्रदीप कोरी, गोपाल वर्मा, युवा नगर उपाध्यक्ष गोपी वर्मा, सौरभ रॉय, प्रवीण कुमार, रविंद्र सामी, सागर कुमार, दीपक कश्यप, छात्र संघ जिला अध्यक्ष हरमन दीप, अजय कश्यप, टिंकू पाल, आर्यन पाल, अर्जुन कुमार आदि.


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!