गढ़वा: नए भारत का निर्माण सिर्फ शिक्षक से ही संभव : निदेशक

Share

गढ़वा: सीबीएसई नई दिल्ली से मान्यता प्राप्त प्लस टू सीनियर सेकेंडरी साउथ प्वाइंट पब्लिक स्कूल में सोमवार को महान शिक्षाविद डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी के जन्म दिवस के अवसर पर शिक्षक दिवस समारोह का आयोजन हुआ.कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलित कर की गई. तत्पश्चात श्री राधा कृष्ण जी के चित्र पर माल्यार्पण किया गया.कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि  प्रेम कुमार चौबे ने सभी विद्यार्थियों को बीच संबोधित करते हुए बताया कि भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति और द्वितीय डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को हुआ था।


उन्होंने कहा था कि मेरा जन्मदिन मनाने के बजाय यह मेरे लिए गर्व की बात होगी कि 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रुप में मनाया जाए.यह जानते थे कि  भारत देश का विकास शिक्षक से ही संभव है.
आज भी आज भी उन्हीं के जन्मदिवस की अवसर पर शिक्षक दिवस टीचर डे के रूप में मनाते हैं.विद्यालय के निदेशक आर एन सिंह ने बताया कि  अभी हाल में ही भारत ने आजादी का 75 वां वर्षगांठ मनाया.जिसकी तरक्की क्रांतिकारी और शिक्षक के बिना अधूरी है. वर्तमान समय में शिक्षकों की उपयोगिता के बारे में बताते हुए कहा कि वर्तमान समय विज्ञान एवं तकनीक का है और हमें वर्तमान समय के लिए बच्चों को तैयार करने से पहले हम शिक्षकों को भी तैयार होना होगा.उन्होंने कहा कि 1 शिक्षक में समाज के निर्माण का अंकुर होता है और वह समाज को संगठित करने तथा उसे नई दिशा देने का काम करता है.शिक्षक और बच्चे सबसे ज्यादा रचनात्मक होते हैं.और यदि उन्हें एक अच्छा शिक्षक मिल जाए तो एक नए निर्माण का नीव  स्थापित कर सकते हैं।
कार्यक्रम के संचालक वर्ग दसवीं की छात्रा सानिया परवीन और वंशिका यादव के द्वारा किया गया.इस अवसर पर विद्यालय में सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजित किया गया.कार्यक्रम के अंत में निदेशक के द्वारा धनंजय उपाध्याय, रंजीत उपाध्याय, आर पी पांडे, ललन झा, संतोष कुशवाहा व निलेश ठाकुर को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया ।
कार्यक्रम में  विद्यालय के शिक्षक वीरेंद्र कुमार , आर पी पांडेय , ललन झा , शेखर वर्मा , उमाशंकर ,प्रदीप नवनीत ,संतोष ,योगेंद्र, , किरन देवी , शरिक हसन , निलेश, चंद्रबहादुर ,अनिल ,संगीता, ज्योतिचंदा ,चंदन ,बिंदु  सहित अन्य लोग उपस्थित थे।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!